+91 8882 540 540  

Namaste!

8 Ratti - Energized South Sea Pearl (Moti) JGL Certified

Be the first to review this product

Origin: India (South Sea)
Delivery Time: 4-6 Business Days
Color: White
Shape: Round
Treatments: Natural & Untreated
Certificate: JGL Certified (Jewels and Gems laboratory)
Energization: Energized By Acharaya Raman (More than 15 years Experience in Vedic Astrology and Gem Astrology)
SKU: RACP0009

Availability: In stock

₹6,500.00
₹6,500.00
Submit your query

ABOUT SPECIFIC GEMSTONE/RING

* Required Fields

Description

Details

ज्योतिष और मोती रत्न के लाभ

मोती चंद्रमा का रत्न है इसलिए जिसकी जन्मकुंडली में चंद्रमा क्षीण, दुर्बल या पीडि़त हो उन्हें मोती अवश्य धारण करना चाहिए। निम्न परिस्तियों में इसे ग्रहण करें:

  • यदि जन्मकुंडली में सूर्य के साथ चंद्रमा उपस्थित हो तो वह क्षीण होता है। इसके अलावा सूर्य से अगली पांच राशियों के पहले स्थित होने पर भी चंद्रमा क्षीण होता है। ऐसी स्थिति में मोती धारण करना चाहिए।
  • केंद्र में चंद्रमा हो तो उसे कम प्रभाव वाला या अप्रभावी मानते हैं। ऐसे में केंद्र में चंद्रमा होने पर भी मोती पहनना चाहिए।
  • दूसरे भाव अर्थात धन भाव का स्वामी यदि चंद्रमा हो तो यह कुंडली मिथुन लग्न में होगी। ऐसे में अगर चंद्रमा छठे भाव में बैठा हो तो मोती धारण करना बहुत उत्तम होता है।
  • जन्मकुंडली में अगर चंद्रमा पंचमेश होतर बारहवें भाव में हो या सप्तमेश होकर दूसरे भाव में हो, नवमेश होकर चतुर्थ भाव में हो, दशमेश होकर पंचम भाव में हो तथा एकादशेश होकर षष्ठम भाव में स्थित हो तो ऐसे व्यक्ति को यथाशीघ्र मोती धारण कर लेना चाहिए।
  • किसी भी कुंडली में अगर चंद्रमा वृश्चिक राशि का हो तो इससे कोई प्रभाव नहीं पड़ता कि वो किस भाव में है। ऐसे जातक को बिना विलंब मोती धारण करना चाहिए।
  • इसी प्रकार चंद्रमा छठें, आठवें और बारहवें भाव में हो तो भी मोती धारण कर लेना चाहिए।
  • यदि चंद्रमा राहू, केतु, शनि और मंगल के साथ बैठा हो या इनकी दृष्टि चंद्रमा पर हो तो भी मोती धारण करना चंद्रमा के अच्छे फल देता है।
  • चंद्रमा जिस भाव का स्वामी हो उससे छठे या आठवें स्थान में अगर वह स्थित हो तो भी मोती धारण करना चाहिए।
  • अगर चंद्रमा नीच का हो, वक्री हो या अस्तगत हो, इसके अलावा चंद्रमा के साथ राहू के ग्रहण योग बना रहा हो तो भी मोती धारण कर लेना चाहिए।
  • यदि विंशोत्तरी पद्धति से चंद्रमा की महादशा या अंतर्दशा चल रही हो तो ऐसे व्यक्ति को भी मोती पहन लेना चाहिए।

Additional Info

Delivery Time 4-6 Business Days
Return Policy 7 Day Money-Back Returns*
Origin India (South Sea)
Color White
Shape Round
Treatments Natural & Untreated

Reviews

Write Your Own Review

You're reviewing: 8 Ratti - Energized South Sea Pearl (Moti) JGL Certified

How do you rate this product? *

  1 star 2 stars 3 stars 4 stars 5 stars
Quality
Price

Terms & Conditions

At Gemsvidhi, we ensure trust and 100% value for your money. For each products bought from our online-store, we ensure the quality, and strictly adhere to our industry standards. The basic business ethics and the corporate social responsibility lay the key foundation to our firm, where we strive to give a 100% satisfaction to our buyers and imbibe trust among them.

To enable a happy shopping experience on our portal, we enable an interactive mode of shopping, where we provide personal counselling and expert advices to our clients.

After selection of gems, customer should choose ring size, as we  provide gems in the form of the rings, with varied options to choose from, silver, platinum or gold. A complete post sale and pre-sale customer care, with industry approved standards ensured.

FEEDBACK:

Your feedback is important for us! Your complete satisfaction serves our prime motive. The Feedback from a Delighted Customer, always knocks more happiness on our door. Please share !
If somehow, you tend to be unhappy with any of our services, By any Reason! We love to hear from you!
PLEASE DO NOT LEAVE NEGATIVE OR NEUTRAL FEEDBACK , RATHER ALLOW US TO RESOLVE THE ISSUE(S)
THANK YOU.